Panchayati Raj Day 2022: पंचायती राज दिवस क्यों मनाया जाता है जाने इतिहास समारोह और इससे जुड़ी अहम बातें

पंचायती राज व्यवस्था का जनक लॉर्ड रिपन को माना जाता है.

पंचायत शब्द दो शब्दों 'पंच' और 'आयत' के मेल से बना है.

पंच का अर्थ है पांच और आयत का अर्थ है सभा. पंचायत को पांच सदस्यों की सभा कहा जाता है

विकेंद्रीकरण के ऐतिहासिक क्षण को यादगार बनाने के लिए के लिए भारत 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस मनाता है

पंचायती राज दिवस पहली बार 24 अप्रैल, 2010 को मनाया गया था.

यह दिन 1992 में संविधान के 73 वें संशोधन के अधिनियमन का प्रतीक है.

भारत में पंचायती राज के गठन और उसे सशक्त करने की अवधारणा महात्मा गांधी के दर्शन पर आधारित है

भारत इस बार 12वां पंचायती राज दिवस मना रहा है.

पंचायतों के सशक्तिकरण और विकास के लिए देश में कई योजनाएं चलाई जा रही हैं.