स्वयं सहायता समूह में रोजगार -स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को मसाले का पैकिंग करने का नया रोजगार

आज आप स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में जुड़कर नए रोजगार करने के बारे में बताएंगे आज हम आप सभी महिलाओं को स्वयं सहायता समूह में जुड़कर मसाले पैकिंग का रोजगार कैसे शुरू करें इसके बारे में बताएंगे आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अपने समूह के माध्यम से लोन प्राप्त कर सकती हैं.




समूह की महिलाओं को लोन कैसे मिलेगा

आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में रहना होगा तब आप सभी लोगों को स्वयं सहायता समूह के जरिए लोन ले जाएगा आप सभी महिलाओं को बता दें कि सभी समूह की सोच के सहमति से आप सभी महिलाएं लोन प्राप्त कर सकते हैं समूह के माध्यम से आप चाहे ₹10000 लोन प्राप्त कर सकती हैं समूह में आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को लोन आसानी से नहीं मिल सकता आप लोगों को बता दें कि अगर आप समूह की महिलाएं इस बिजनेस को करने जाएंगे तो सभी सदस्य भी इस बिजनेस को करने के बारे में सोचेंगे और सभी समूह की महिलाएं एक साथ हाथ उठाकर कहेंगी हमें भी लोन चाहिए इसलिए समूह में पैसे ना होने के कारण आप सभी महिलाओं को लोन नहीं मिल पाता तो आप सभी महिलाएं मुद्रा लोन भी प्राप्त कर सकती हैं आप लोगों को आपके बैंक के जरिए आसानी से लोन मिल सकता है




समूह की महिलाओं को मसाले की पैकिंग का रोजगार कैसे शुरू करें

आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं मसाले की पैकिंग का रोजगार एक साथ शुरू कर सकती है आप सभी मैंने 10 महिलाएं मिलकर इस कार्य को कर सकती हैं आप सभी महिलाएं अलग-अलग प्रकार के कार्य कर सकती हैं एक साथ ग्रुप बनाकर आपसे ही महिलाएं हल्दी मिर्च धनिया जीरा अन्य मसाले की पैकिंग कर सकती हैं आप स्वयं सहायता समूह की महिलाएं एक साथ मिलकर अपने रोजगार को बड़ा कर सकती हैं आप लोगों को बता दें कि स्वयं सहायता समूह में महिलाएं लोन प्राप्त कर अलग-अलग ग्रुप में बैठकर अपने रोजगार को एक साथ एकजुट होकर कर कर आगे बढ़ सकती हैं आप चाहे तो अकेले भी इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं




समूह की महिलाओं को मसाला तैयार करने के लिए कीमत

आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बता दें कि अगर आप लोग मसाले का व्यापार करना चाहते हैं तो सबसे पहले मार्केट में मसालों के दाम क्या चल रहा है उनके बारे में आपको जानना जरूरी है आपको बता दें कि इस समय सूखा मरचा ₹400 किलोग्राम है मालवणी मसाला 800 से करीब हो गया है धनिया 550 से ₹750 हो गए हैं लॉन्ग के कीमत 800 से ₹1000 हो गई है और इसी प्रकार से आप अपनी मार्केट के अनुसार जाकर मसालों की कीमतों को पता करके मसाला लेकर अपने बिजनेस को अपने रोजगार को शुरू करें




समूह की महिलाओं को मसाला बनाने के लिए मशीन

आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को इस रोजगार को शुरू करने के लिए मशीन की जरूरत होगी क्योंकि आप सभी लोगों ज्यादा मसाले एक साथ तैयार नहीं कर सकती आप सभी महिलाएं क्लीनर मशीन का उपयोग कर सकती हैं यह आप सभी के मसाले के रॉ मैटेरियल स्टोर कंकड़ पत्थर साफ करने में आप सभी महिलाओं को मदद करेगा ड्राइवर की मशीन का भी उपयोग कर सकती है या मशीन आप सभी महिलाओं के मसाले को सुखा कर सही कर देगा मसालों को आपको मशीन की जरूरत पड़ेगी या मशीन आप लोगों को कम मेहनत मसाला पीसने में आसानी होता है आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं सीलिंग मशीन का उपयोग करती है तो आप के मसाले को पैकिंग करने में सहायता करेगा




इसे भी पढ़ें

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को एजेंसी का नया रोजगार

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए मनरेगा के तहत CIB बोर्ड बनाने का रोजगार

स्वयं सहायता समूह की महिलाएं कपड़े सिलने का रोजगार कैसे शुरू करे

Leave a comment

Your email address will not be published.