गोरखपुर में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को मिलेगा रोजगार,जाने क्या यह खास काम

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के जरिए गोरखपुर में रहने वाले सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को दूध उत्पादक सहकारी संघ पराग डेयरी का काम दिया जाएगा जिससे सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके स्वयं सहायता समूह की महिलाएं प्लांट में पराग नामक तैयार उत्पाद करेंगी सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पराग बनाकर मार्केटिंग करेंगी

आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बता दें कि इस योजना के जरिए गोरखपुर में रहने वाले सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को दूध से जुड़े सभी प्रकार के उत्पादन बनाने की रोजगार दिया जाएगा स्वयं सहायता समूह की महिलाएं समूह में जुड़कर पनीर छेना के रसगुल्ला दही पेड़ा आदि जैसे उत्पाद बनाने का काम करेंगे और उसकी मार्केटिंग भी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा किया जाएगा इन सभी उत्पादन को बनाए गए सामग्री सभी बड़े बड़े माल सुपर मार्केट में मार्केटिंग की जाएगी



दूध और गोबर दोनों बेचेंगे किसान

आप सभी लोगों को बता दें कि सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं ईंधन बचाने के लिए सभी महिलाएं जो है कि बायोगैस प्लांट लगाने के जैसे निर्देश दिए गए हैं आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बता दें कि जब प्लांट लग जाएगा तब दूध और गोबर दोनों खरीदा जा सकता है यह से सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं और किसानों की आय में वृद्धि होगी

Leave a comment

Your email address will not be published.