ग्राम संगठन में नगद पुस्तक कैसे लिखें

 अगर आप सभी महिलाएं ग्राम संगठन के नगद पुस्तक के बारे में नहीं पता तो आज के इस आर्टिकल में हम आप सभी लोगों को नगद पुस्तक के बारे में बताएंगे नगद पुस्तक क्या होता है नगद पुस्तक के फायदे नगद पुस्तक लिखने का तरीका नगद पुस्तक से जुड़ी सभी जानकारियां आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से देने वाले हैं कृपया हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें और अपने दोस्तों को शेयर अवश्य करें

 

ग्राम संगठन में नगद पुस्तक किसे कहते हैं

 ग्राम संगठन में लगातार होने वाले नगद और बैंक लेन देन को खाता शीषक के अनुसार लिखने के पुस्तक को नगद पुस्तक कहते हैं।
 

 ग्राम संगठन में नगद पुस्तक के फायदे

 1. एक बैठक में होने वाले प्राप्त और भुगतान का विवरण पता चलता है।

2. हर बैठक की अंतिम नगद शेष राषि और अंतिम बैंक शेष राषि पता चलता है।

 3. नगद पुस्तक के आधार से साधरण खाता बही में विवरण लिख सकते है।

 ग्राम संगठन में नगद पुस्तक लिखने का तरीका

 1. हर बैठक मे नगद पुस्तक लिखना है।

2. नगद पुस्तक में प्राप्त को बायें तरफ की पन्ने में भुगतान को दायें तरफ के पन्ने में लिखना है।

3. प्राप्त को रसीद के आधार से और भुगतान को वाउचर के आधार से लिखना है।

4. प्राप्त के तरफ प्रारंभ राषि, सदस्यता शुल्क हिस्साधन ऋण का किस्त और व्याज वसूली, C.LF से आया हुआ ऋण या निधि बैंक से निकासी किए गए नगद दण्ड और अन्य आय आदि प्राप्त को लिखना है।

5. भुगतान के तरफ समूहों को दिए गए ऋण C.LF को भुगतान किए किस्त और व्याज, बैंक में जमा किये नगद या चेक ग्राम संगठन सहायिका का मानदेय, कार्यलय का किराया, सफर खर्च, अन्य भुगतान, अंतिम शेष राषि, आदि भुगतान को लिखना है।

6. नगद प्राप्त होने पर प्राप्त के तरफ नगद कॉलम में लिखना है।

7 नगद भुगतान होने पर भुगतान के तरफ नगद कॉलम में लिखना है। 8. चेक या डी.डी प्राप्त होने पर प्राप्त के तरफ बैंक कॉलम में लिखना है।

9. ग्राम संगठन से चेक के माध्यम से भुगतान करने पर भुगतान के तरफ बैंक कॉलम में लिखना है।


 प्रति प्रविष्ठि (Contra Entry )

a) एक ही लेन देन को प्राप्त के तरफ और भुगतान के तरफ भी लिखने का लेन देन प्रतिप्रविष्टी (कांटा एंट्री ) कहते हैं।
 
b) ग्राम संगठन में जो नगद है उसको बैंक में जमा करने पर प्राप्त के तरफ बैंक कॉलम में लिखना है और भुगतान के तरफ नगद कॉलम में लिखना है।
 
 C) ग्राम संगठन में भुगतान करने के लिए बैंक से नगद निकासी करने पर प्राप्त के तरफ नगद कॉलम में लिखना है। भुगतान के तरफ बैंक कॉलम मे लिखना हैं।


ग्राम संगठन में नगद पुस्तक से अंतिम शेष राषि निकालने का तरीका

a) हर बैठक में नगद पुस्तक लिखकर उसी दिन का अंतिम शेष लिखना है।
 
b) प्राप्त के तरफ और भुगतान के तरफ नगद और बैंक कॉलम को अलग-अलग जोड़ना है।

c) प्राप्त के तरफ कुल राषि को भुगतान के तरफ कुल में लिखना है।

d) प्राप्त के कुल से भुगतान के कुल को घटाकर अंतिम शेष राषि को निकालना है।

e) अंतिम शेष राषि को अक्षर रूप में लिखकर नीचे दाये तरफ ग्राम संगठन का मोहर डालकर अध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष का हस्ताक्षर करवाना है।

f) बायें तरफ ग्राम संगठन का सहायिका का हस्ताक्षर करवाना है।

 इसे भी पढ़े 👉

स्वयं सहायता समूह में ऋण पुस्तक किसे कहते हैं

 ग्राम संगठन में रसीद पुस्तक कैसे लिखें

 ग्राम संगठन में सदस्यता रजिस्टर कैसे लिखें

Leave a comment

Your email address will not be published.