स्वयं सहायता समूह में व्यक्तिगत पासबुक पुस्तक कैसे लिखें

स्वयं सहायता समूह में व्यक्तिगत पासबुक किसे कहते हैं

स्वयं सहायता समूह में सदस्यों का व्यक्तिगत बचत का विवरण और समूह में छोटे-बड़े लोन का विवरण लिखे जाने वाले पुस्तक को व्यक्तिगत पासबुक कहते हैं जो केवल सदस्यों के पास रहता है वह पुस्तक सदस्यों की पहचान है कि वह समूह में जुड़ी हुई हैं

स्वयं सहायता समूह के सदस्य को व्यक्तिगत पासबुक लेने से क्या फायदा है 

स्वयं सहायता समूह में व्यक्तिगत पासबुक से अनुसार ली गई उधार वापसी करने में मदद मिलता है सदस्यों के पास एक पहचान पत्र जैसा व्यक्तिगत पासबुक सबूत होता है स्वयं सहायता समूह के हर सदस्य को हर बैठक में इस व्यक्तिगत पासबुक को लाना होता है

स्वयं सहायता समूह की व्यक्तिगत पासबुक पुस्तक को इस 5 तरह से लिखना है

1) स्वयं सहायता समूह के सदस्यों का व्यक्तिगत विवरण लिखना है

2) स्वयं सहायता समूह के सदस्यों का व्यक्तिगत विवरण लिखना है

3) स्वयं सहायता समूह के सदस्यों का बचत का विवरण लिखना है

4) स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को लघु ऋण विवरण लिखना है

5) स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को बडा ऋण विवरण लिखना है

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को व्यक्तिगत पासबुक में ध्यान देने वाली बातें

a) प्रथम पत्र में सदस्य का संबंधित विवरण समूह में प्रवेश तिथि सदस्यता संख्या, सदस्य का नाम, पति का नाम, उम्र, पढाई वैवाहिक स्थिति व्यवसाय आदि विवरण लिखना चाहिए। 
b) व्दितीय पत्र में सहा सदस्या विवरण सारे सदस्य का नाम, उम्र, सारे सदस्यों के पति के नाम उनका व्यवसाय लिखना चाहिए। 
c) पत्र में सदस्य का बचत का विवरण लिखना चाहिए। सदस्य पास पुस्तक में बचत लिखने में नमूना।

             

  तिथि

बचत

बचत पर ब्याज

कुल बचत

बचत + ब्याज

पदाधिकारी हस्ताक्षर

23-11-2001

      10

            —– 

            10

XXXX

30-11-2001

      10

             —

            20

XXXX

07-12-2001

        10

                —–

            30

XXXX

14-12-2001

        —-

                —–

            30

XXXX

21-12-2004

        20

              ——

            50

XXXX

(d) पहला डिब्बि बैठक हुआ तिथि, दूसरा डिब्बि में बचत तीसरा डिब्बि में बचत पर ब्याज चौथा डिब्बि में कुल बचत (बचत ब्याज) शुरू से अबतक कुल बचत राशि लिखना है।

 e) लघु ऋण विवरण समूह का ऋण पुस्तक में लघु ऋण विवरण लिखने समय भुगतान का विवरण इसी पुस्तक में भी वैसा ही लिखना चाहिए।
 f) सदस्यों का बड़ा ऋण विवरण का ऋण पुस्तक में बड़ा ऋण विवरण लिखने समय भुगतान का विवरण इसी पुस्तक में वैसा ही लिखना चाहिए।


अगर आप सही स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को व्यक्तिगत पासबुक लिखना नहीं आ रहा है तो हमारा आप यह वीडियो देख सकती है



अगर आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को स्वयं सहायता समूह की से किसी भी प्रकार की शिकायत या फिर किसी भी प्रकार की कोई समस्या है तो आप हमें कमेंट जरूर करें अगर आप सभी को हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है हमारे इस वेबसाइट को फॉलो अवश्य करें 

Join the Conversation

2 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.