स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की सहायिका की नौकरी 2022 कैसे मिलेगी

स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की सहायिका की नौकरी 2022 कैसे मिलेगी 

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी ग्राम संगठन की सहायता की नौकरी पाने के लिए आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को यह पूरा आर्टिकल ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा तो आइए जानते हैं इस आर्टिकल के माध्यम से पूरी जानकारी विस्तार से

अगर आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को ग्राम संगठन की सहायिका  की नौकरी के बारे में नहीं पता है तो आइए जानते हैं इस आर्टिकल के माध्यम से पूरी जानकारी विस्तार से कि आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को ग्राम संगठन की सहायिका  की नौकरी कैसे मिल सकती है पूरी जानकारी विस्तार से इस आर्टिकल के माध्यम से

ग्राम संगठन की सहायिका किसे कहते हैं

 आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे ग्राम संगठन के सहायिका किसे कहते हैं ग्राम संगठन की बैठक करवाना और पुस्तक संचालन के साथ रहकर गांव के सभी समूहों को सुझाव देना और पुस्तक संचालक की सहायता करने वाली महिलाओं को ग्राम संगठन सहायिका कहते हैं


 

 ग्राम संगठन की सहायिका की क्या-क्या योग्यताएं होनी चाहिए ?


वह महिला गरीब एवं अति गरीब परिवार की महिला होनी चाहिए

वह महिला स्वयं सहायता समूह में जुड़ी होनी चाहिए और किसी एक समूह की सदस्य होनी चाहिए

वह उसी गांव की महिला होनी चाहिए

उस महिला का उम्र 25 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होना चाहिए

वह महिला समूह में कम से कम 10 वीं कक्षा पढ़ी लिखी होनी चाहिए
 उस महिला का सेवा भाव होना चाहिए
उस महिला के अंदर सहनशीलता होनी चाहिए
वह महिला ईमानदार होनी चाहिए
 उस महिला को गरीबों का सम्मान करना चाहिए
वह महिला विवाहित महिला होनी चाहिए
 वह महिला समूह का सही से समय का पालन करने वाली होनी चाहिए
वह महिला समूह का पुस्तक कम से कम 6 महीने तक लिखी रहनी चाहिए  



स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की सहायिका का चयन कैसे होता है 

स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की आम सभा या कार्यकारिणी समिति बैठक में ऊपर दीए गए योग्यता के चर्चा  के अनुसार ग्राम संगठन की सहायिका का चयन होता है 


स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की सहायिका का मानदेय कितना मिलता है 


स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की सहायिका का मानदेय ₹2000 प्रति माह मिलता है

Leave a Reply

Your email address will not be published.