स्वयं सहायता समूह में ग्राम संगठन की लेखपाल कैसे बने इसके बारे में पूरी जानकारी मानदेय कितना मिलता है

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को ग्राम संगठन की लेखपाल को पुस्तक लिखने से क्या लाभ होता है और उन्हें पुस्तक क्यों लिखना चाहिए और उन्हें मानदेय कितना मिलता है इसके बारे में आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे
 

ग्राम संगठन लेखपाल किसे कहते है

ग्राम संगठन के पुस्तक लिखने वाली महिला को ग्राम संगठन लेखपाल कहते हैं 

ग्राम संगठन की पुस्तक लेखपाल को पुस्तक लिखने से क्या लाभ है

ग्राम संगठन के पुस्तक लिखने से समूह की महिलाओं को हिसाब किताब का पता चलता है ग्राम संगठन के लेनदेन के बारे में पता चलता है और समूह की महिलाओं को आडिट करने में आसानी होती है ग्राम संगठन का इतिहास पता चलता है समूह के सदस्यों का विश्वास बढ़ता है ग्राम संगठन में सभी कामों का पता चलता है और ग्राम संगठन के पदाधिकारियों  के बारे में बदलाव का भी पता चलता है किसी भी सामाजिक कार्यों के बारे में पता चलता है ग्राम संगठन के नियम के बारे में पता चलता है ग्राम संगठन की सरकारी योजनाएं जो भी आती हैं उनके बारे में भी पता चलता है

ग्राम संगठन के लेखपाल को कौन-कौन से पुस्तक लिखनी पड़ती है

ग्राम संगठन के कई प्रकार की पुस्तक होते हैं ग्राम संगठन की लेखपाल उन सभी पुस्तकों को लिखती है जिससे समूह के हिसाब किताब के बारे में पता चलता है आइए जानते हैं
  • बैठक प्रस्ताव एवं उपस्थित पुस्तक
  • सदस्य का रजिस्टर 
  • रसीद का रजिस्टर 
  • रसीद का पुस्तक
  • साध खाता बही का पुस्तक 
  • प्राप्त और भुगतान का पुस्तक 
  • ऋण का पुस्तक 
  • समूह का पासबुक का पुस्तक
  • DCB का पुस्तक 
  • बैंक लिंकेज का रजिस्टर पुस्तक 
  • बैंक लिंकेज का DCB पुस्तक
  •  स्टॉक और संपत्ति का पुस्तक 
  • मानसिक प्रतिवेदन का पुस्तक

Leave a comment

Your email address will not be published.